ISRO Ka Full Form क्या है? पूरी जानकारी

अगर आप ISRO ka Full Form जानना चाहते हैं और इसरो (ISRO) के बारे में अन्य जानकारी भी प्राप्त करना चाहते हैं तो आप यहां बिल्कुल सही आए हैं आपको यहां इसरो (ISRO) के बारे में हर प्रकार की जानकारी मिलेगी।

Hello दोस्तों, हमें उम्मीद है कि आप स्वस्थ और सुरक्षित होंगे और अपने घर में होंगे।

आज हम इसरो (ISRO) के बारे में बात करने वाले हैं हम आपको ISRO ka Full Form बताएंगे और इसरो (ISRO) की प्रमुख अंतरिक्ष इकाइयां और इसरो के अंतरिक्ष केंद्रों के बारे में भी जानकारी देंगे।

ISRO की जानकारी

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान समिति का गठन सन 1962 में किया गया था जिसके अध्यक्ष डॉ विक्रम साराभाई को बनाया गया।

डॉ विक्रम साराभाई को भारतीय अंतरिक्ष कार्यक्रम का जनक कहा जाता है, भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान समिति को पुनर्गठित करके 15 अगस्त सन 1969 को भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन ISRO की नींव रखी गई।

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन का मुख्यालय बेंगलुरु में स्थित है ISRO के वर्तमान अध्यक्ष के. सिवन है।

इसरो (ISRO) द्वारा अंतरिक्ष आयोग तथा अंतरिक्ष विभाग का गठन वर्ष 1972 में किया गया और इसका संपूर्ण दायित्व ISRO के पास है।

ISRO Ka Full Form

ISRO Ka Full Form हिंदी में भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन है तथा अंग्रेजी में Indian Space Research Organization है।

जैसा कि हमने आपको बताया की भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान समिति का नाम बदलकर 15 अगस्त वर्ष 1969 में इसका नाम भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन या Indian space research Organization (ISRO) रखा गया

भारत के अंतरिक्ष केंद्र और अंतरिक्ष इकाइयां

भारत के कई अंतरिक्ष इकाइयां और अंतरिक्ष केंद्र है, जिनके बारे में हमने यहां आपको संपूर्ण रूप से जानकारी दी है।

  1. श्रीहरि कोटा केंद्र (SHAR)
  2. भारतीय अंतरिक्ष अनुप्रयोग केंद्र (ISAC)
  3. अंतरिक्ष उपयोग केंद्र
  4. विक्रम साराभाई अंतरिक्ष केंद्र
  5. द्रव प्रणोदक प्रणाली केंद्र (LPSC)
  6. मुख्य नियंत्रण सुविधा, हासन (MCF)
  7. राष्ट्रीय दूर संवेदी एजेंसी (NRSA)
  8. इसरो जड़त्व प्रणाली इकाई (IISU)
  9. भौतिक अनुसंधान प्रयोगशाला (PRL)

श्रीहरि कोटा केंद्र (SHAR)

श्रीहरिकोटा केंद्र या सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र (SHAR) स्थापना 1 अक्टूबर 1971 को हुई थी, यह आंध्र प्रदेश के पूर्वी तट पर स्थित है और इसे इसरो का प्रमुख प्रक्षेपण केंद्र माना जाता है।

यहां पर विभिन्न प्रकार के उपग्रहों और Rockets का परीक्षण किया जाता है तथा उन्हें यहां से Launch भी किया जाता है।

भारतीय अंतरिक्ष अनुप्रयोग केंद्र (ISAC)

भारतीय अंतरिक्ष अनुप्रयोग केंद्र उपग्रह परियोजना के Design, परीक्षण, निर्माण और प्रबंध जैसे कार्य संपन्न किए जाते हैं यह केंद्र बेंगलुरु में ही स्थित है।

अंतरिक्ष उपयोग केंद्र

अंतरिक्ष उपयोग केंद्र पर दूरसंचार एवं टेलीविजन के उपग्रह का प्रयोग प्राकृतिक संसाधनों के सर्वेक्षण और प्रबंधन के लिए संवेदन, मौसम, भूमापन, पर्यावरण प्रदूषण से संबंधित कार्य को किया जाता है, यह अंतरिक्ष उपयोग केंद्र गुजरात के अहमदाबाद में स्थित है।

विक्रम साराभाई अंतरिक्ष केंद्र

विक्रम साराभाई अंतरिक्ष केंद्र अंतरिक्ष अनुसंधान और अंतरिक्ष मामलों के संबंध में प्रमुख संस्थान हैं। यहां पर रॉकेट अनुसंधान और प्रक्षेपण यान विकास जैसी परियोजनाएं क्रियान्वित हैं इस केंद्र की स्थापना 21 नवंबर 1963 को तिरुवंतपुरम में की गई थी।

विक्रम साराभाई अंतरिक्ष केंद्र के द्वारा विकसित किए गए मुख्य प्रक्षेपण यान में PSLV, GSLV, SLV-3, ASLV, इत्यादि है।

द्रव प्रणोदक प्रणाली केंद्र (LPSC)

द्रव प्रणोदक प्रणाली केंद्र की बहुत सारी शाखाएं हैं जैसे बैंगलोर, महेंद्रगिरी, तिरुवंतपुरम, आदि। यहां पर उपग्रह प्रक्षेपण यान और इंजनों का डिजाइन तैयार किया जाता है और डिजाइन तैयार करने के बाद रॉकेट इंजनों का परीक्षण भी किया जाता है।

मुख्य नियंत्रण सुविधा, हासन (MCF)

मुख्य नियंत्रण सुविधा हासन – उपग्रहों को प्रक्षेपित करने के बाद क्रियाकलापों पर निगरानी रखने के लिए मुख्य नियंत्रण सुविधा केंद्र की स्थापना की गई।

इसके अंदर की अन्य शाखाएं तिरुवंतपुरम, हरिकोटा, लखनऊ, और बेंगलुरु में स्थित है।

राष्ट्रीय दूर संवेदी एजेंसी (NRSA)

राष्ट्रीय दूर संवेदी एजेंसी उपग्रहों से प्राप्त आंकड़ों का उपयोग करती है और इन आंकड़ों से पृथ्वी के संसाधनों की पहचान, वर्गीकरण और निगरानी की जाती है राष्ट्रीय दूर संवेदी एजेंसी का मुख्यालय बालानगर, हैदराबाद में स्थित है।

इसरो जड़त्व प्रणाली इकाई (IISU)

इसरो जड़त्व प्रणाली की इकाई तिरुवनंतपुरम में स्थित है इसका कार्य उपग्रहों के प्रक्षेपण यानो के लिए जड़त्व प्रणाली विकसित करना है।

भौतिक अनुसंधान प्रयोगशाला (PRL)

भौतिक अनुसंधान प्रयोगशाला का विकास अहमदाबाद में किया गया था तथा भौतिक विज्ञान, खगोल विज्ञान, उपग्रहों ग्रहों तथा वायुमंडल से संबंधित खोजें यहां की जाती है।

निष्कर्ष

आज आपने यहां पर बहुत सी जानकारियां प्राप्त की जिनमें से प्रमुख जानकारियां निम्न है।

  • इसरो क्या है (ISRO Kya Hai)
  • इसरो का फुल फॉर्म (ISRO ka Full Form)
  • भारत के अंतरिक्ष केंद्र
  • भारत की अंतरिक्ष इकाइयां

आपने आज यह सभी जानकारियां यहां से प्राप्त की।

इसी प्रकार की अन्य जानकारियों को प्राप्त करने के लिए तथा सरकारी नौकरी की तैयारी करने के लिए हमारे telegram channel और Facebook group से जरूर जुड़े।

Telegram Channel
Khan Sir Polity Notes PDF Download
Khan Sir History Notes PDF Download
Best RAS Coaching in Rajasthan Hindi

telegram channel और Facebook group पर आपको आपके जैसे ही बहुत सारे Students मिलेंगे जिनसे आप बातचीत कर सकते हैं और अपने प्रश्नों के उत्तर पा सकते हैं तथा सरकारी नौकरी और अन्य तथ्यों पर विचार विमर्श कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *