Real life inspirational story in hindi

3 करोड़ की कार का अंतिम संस्कार। Short Real Life Inspirational story in Hindi

3 करोड़ की कार का अंतिम संस्कार।

Short Real Life Inspirational story in Hindi


सितंबर 2013

पूरे ब्राज़ील में सनसनी फैल गई, जब प्रख्यात व्यवसायी शिकीन्हो स्कार्पा ने अपने फेसबुक पेज पर अपनी अतिप्रिय कार बेंटले कॉन्टिनेंटल फ्लाइंग स्पर को जमीन में दफ़नाने की योजना के बारे में लिखा।

62 वर्षीय शिकीन्हो स्कार्पा ने कहा कि वह महीने के अंत तक अपनी तीन करोड़ की बेंटले को दफ़न करेंगे ताकि मृत्यु के बाद के जीवन में वे इसे चला सकें।

उन्होंने यह भी बताया कि इसकी प्रेरणा उन्होंने इजिप्त के राजा फिरौन से ली है, जिनको उनके जमाने में अपनी सबसे मूल्यवान सामानों के साथ दफनाया गया था।

साथ ही में उन्होंने अपनी हवेली के बाड़े में कार के लिए खड्डा खोदने की तस्वीर भी शेयर की।

इसके बाद तो लोग जज़्बाती हो कर पूरे फेसबुक पर उनकी निंदा करने लगे। लोगों ने स्कार्पा की जमकर खिंचाई की, कुछ ने उन्हें सनकी स्कार्पा कहा तो कुछ ने कहा कि स्कार्पा को ऐसी बेवकूफों वाली हरकत करने के बजाय कार को बेच कर पैसें दान में दे देने चाहिए।

पर अमीर लोग तो ऐसे ही होते है, वे अपनी मनमानी ही करते है।

इतनी नकारात्मक प्रतिक्रियाओ के बाद भी स्कार्पा न सिर्फ अपने निर्णय पर अड़े रहे, बल्कि अपने समारोह में मीडिया को भी आमंत्रित किया ताकि पूरा देश उनके कारनामे को देख सकें।

और निश्चित दिन के निश्चित समय पर श्रीमान स्कार्पा और कुछ अन्य लोग मीडिया के साथ खड्डे के पास इकठ्ठा हुए।

कार की दफ़्न विधि शुरू की गई। लेकिन कार को खड्डे में डालने से ठीक पहले उन्होंने समारोह को बीच में ही रोक दिया और मीडिया को अपना असली उद्देश्य नुमायान किया।

उन्होंने कहा कि-

पिछले कुछ दिनों से पूरा देश मेरी निंदा कर रहा हैं क्योंकि मैं इतनी महंगी कार को दफ़न करने वाला हूं। लेकिन सच्चाई यह हैं कि ज्यादातर लोग मेरी कार की तुलना में बहुत अधिक मूल्यवान चीजें दफ़न कर रहे हैं।

लोग अपने साथ दिल, लिवर, फेफड़ें, आंखें, और किडनी को दफ़न कर रहे हैं।

यह बहुत ही बेतुकी बात है कि इस दुनिया में ऐसे बहुत सारे लोग हैं जो अभी इस वक़्त प्रतीक्षा कर रहे हैं, उन चीज़ों को पाने के लिए जिसे लोग मरने के बाद अपने साथ दफ़न कर रहे हैं।

यह इस दुनिया का सबसे बड़ा व्यय हैं। जीवतदान देने वाले अंगों की तुलना में मेरी बेंटले की क़ीमत कुछ भी नहीं हैं, क्योंकि जीवन से ज्यादा बहुमूल्य चीज़ इस दुनिया में और कुछ भी नहीं है।

मैं आज अधिकृत रूप से इस बात की घोषणा करता हू की मैं एक अंगदाता (ऑर्गन डोनर) हूं। क्या आप हैं? अपने परिवार को बताइए।

दरअसल उन्होंने यह तमाशा सिर्फ इसलिए किया था ताकि लोगों में अंग-दान के प्रति जागरूकता पैदा हो।

इस कार्यक्रम को उस वर्ष के सबसे रचनात्मक मीडिया अभियान में से एक के लिए नामांकित किया गया। और तो और इस कार्यक्रम के अगले महीने में ब्राजीलियन एसोसिएशन ऑफ ऑर्गन ट्रांसप्लांटेशन के द्वारा किए गए अंग-दान अभियान में भी अंग-दाताओं की संख्या में 31.5% की वृद्धि हुई।

Thanks for Visiting HindiMonk.com

अगर आप को यह प्रेरणदायक स्टोरी पसंद आई हो तो कृपया फेसबुक पर अपने दोस्तों के साथ शेयर करें।

Read More:

  1. टॉयलेट- एक समस्या! A Short Moral Stories On Leadership In Hindi
  2. टेंशन ना लें, सबकुछ ठीक हो जाएगा। Best Inspirational Story In Hindi
Posted in Hindi Stories, Motivational stories in hindi, हिंदी कहानियां and tagged , .

2 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.