best-inspirational-story-in-hindi

टेंशन ना लें, सबकुछ ठीक हो जाएगा। Best inspirational story in hindi-

नमस्कार दोस्तों! मैं युवराज डोडिया, हिन्दीमोंक पर आपका एक बार फिर से स्वागत हूँ।

क्या आपने कभी अपने आप को किसी ऐसी परिस्थिति में पाया है जब आपको लगने लगा हो की अब तो हार मानने के सिवा और कोई चारा नहीं है।

तो आज की यह hindi inspirational story जरूर पढ़ें। क्योंकि यह आपको सिखाएगी की ऐसी मुश्किल घड़ी में क्या करें… तो शुरू करते है आज की हमारी कहानी-

Best inspirational story in hindi- टेंशन ना लें, सबकुछ ठीक हो जाएगा।

शाम का समय था। आसमान में काली घटा छाई हुई थी और जंगल में आग लगी हुई है। जिसका कारण था काली घटाओं के द्वारा गिरी हुई बिजली।

सुनहरे बालों वाली एक हिरनी नदी के किनारे पानी पीने आई। (और यही हिरनी हमारी आज की कहानी की हीरोइन है।)

पानी पी कर उसने नदी में अपना चेहरा देखा तो उसे अपने चेहरे पर चिंता के भाव साफ दिखाई दिए। हिरनी परेशानी में थी क्योंकि जंगल मे लगी आग की वजह से उसका घर जल-कर राख हो गया था, और अब उसके पास ऐसा कोई सुरक्षित ठिकाना नहीं था, जहाँ जाकर वह अपने बच्चें को जन्म दे सकें।

जी हाँ, दरअसल हमारी हीरोइन हिरनी साढ़े तीन महीनों से प्रेग्नेंट थी। और इस वक़्त वह प्रसूति से पहले का दर्द महसूस कर रही थी। हिरनी को लगा की शायद उसे वहीं नदी के किनारे ही अपने बच्चें को जन्म दे देना चाहिए।

पर तभी उसे अपनी दाईं तरफ झाड़ियों में से आहट सुनाई दी। उसने तीरछी नजर से दाईं तरफ देखा तो उसे किसी इंसान की परछाईं नजर आई। गौर से देखने पर उसे मालूम हुआ कि कोई शिकारी अपनी बंदूक में गोलियां डाल रहा है। शायद वह आज हिरनी का शिकार करने की सोच रहा था।

घबराई हुई हिरनी और ज्यादा घबरा गई। हिरनी ने तुरंत वहाँ से भागने की सोची। और जैसे ही उसने अपने कदम बाईं और बढ़ाए तो उसे अपनी मौत दिखाई दी।

क्योंकि वहाँ पर सामने शेर खड़ा था। और शेर ने भी आज हिरनी की दावत बनाने का फैसला कर लिया था।

हिरनी का दिमाग अब परिस्थिति का एनालिसिस करने लगा।

आगे की तरफ़ नदी थी जिसे पार करना हिरनी की बस की बात नही थी। पीछे की तरफ जंगल में आग लगी हुई थी, और वहाँ जाने का उसका मन भी नही था। दाईं तरफ शिकारी था जो उसे मारने की तैयारी कर रहा था और बाईं तरफ शेर खड़ा था जो हिरनी को दावत बनाने की सोच रहा था।

हिरनी को समझ नही आ रहा था कि कैसे अपनी जान बचाए। उसे लगने लगा कि शायद आज उसका chekmate हो गया है।

बहुत सी brain storming के बाद उसे अहसास हुआ कि उसके पास बचने का कोई रास्ता नहीं है।

इसलिए उसके मन में खयाल आया कि जब मरना ही है तो डर कैसा। क्यो न शान से मरा जाए? लगता है चारों तरफ मौत देखकर उसका दिमाग सटक गया था।

तो हिरनी ने सोचा कि मरूँगी तो शान से और शिकारी की और सीना तान कर खड़ी हो गई। और आंखे बंध करके भगवान से इस जिंदगी को देने का शुक्रिया कहा। और जीवतदान देने की प्रार्थना करने लगी।

शिकारी ने अपनी हेंडी राइफल में .22 इंच कैलिबर की गोलियां डाल कर शिकार को अंजाम देने की तैयारी पूरी की और बंदूक को अपने कंधे पर रखा। अपनी दाहिनी आँख बंध की और हिरन पर निशाना साधा। पर ट्रिगर को दबाने से ठीक पहले एक अजीब घटना हुई।

दरअसल जंगल मे लगी आग में से एक अंगारी उड़कर शिकारी की आँख में लगी और उसका निशाना चूक गया। शिकारी अंधा हो गया।

गोली जा कर लगी सीधी शेर को, और शेर घायल हो कर ज़मीन पर गिर पड़ा। उसी वक़्त बिजली की गर्जना के साथ बारिश होनी शुरू हो गयी। और जंगल में लगी आग भी धीरे धीरे बुझने लगी।

और इस भीगे-भीगे और बड़े ही रोमांटिक मौसम में हमारी हिरनी ने तीन खूबसूरत बच्चों को जन्म दिया। जिन्होंने बड़े हो कर खूब मज़े किए और बहुत नाम कमाया।

और यहाँ हमारी कहानी पूरी हुई।

पर हमारी आज की कहानी का सबक जो है वह ये है कि

जब भी कभी आप अपने आप को चारों दिशाओं से प्रोब्लेम्स से घिरा महसूस करें, और कोई सॉल्यूशन न दिखाई दें तो बस बिना घबराए सीना तान कर मुश्किलों का सामना करें। और ऊपर वाले पर भरोसा रखें।

टेंशन ना ले, सबकुछ ठीक हो जाएगा।

Thanks for visiting HindiMonk.com

2 thoughts on “टेंशन ना लें, सबकुछ ठीक हो जाएगा। Best inspirational story in hindi-

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.